भरत रत्न

छतों पर रखी पानी की टंकियों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। छतों पर रखे कपड़ों को खराब कर देते हैं। इसी वार्ड में स्थानीय विधायक का भी घर है और विकास खंड कार्यालय, लोक निर्माण विभाग कार्यालय, निजी स्कूल, आर्मी कैंटीन है, जहां पर प्रतिदिन हजारों लोग अपने विभिन्न कार्यो के लिए पहुंचते हैं। सबसे बड़ी मुश्किल बच्चों को स्कूल भेजने में आती है। बंदर किसी पर कभी भी हमला कर देते हैं। लोगों का कहना है कि बंदरों से छुटकारा पाने के लिए पार्षद श्याम शर्मा की अगुआई में दो बार उपमंडल अधिकारी शशि पाल शर्मा को ज्ञापन दे चुके हैं, लेकिन प्रशासन और सरकार अभी तक कुछ नहीं कर रही है। लोगों ने अंतिम बार एसडीएम को ज्ञापन देने का रणनीति बनाई है और उसके बाद अगर कार्रवाई नहीं हुई तो एसडीएम ऑफिस के बाहर धरना दिया जाएगा। लोगों का कहना है कि प्रशासन को इस समस्या का समाधान करने के लिए शीघ्र कदम उठाने चाहिए। वहीं आरओ ज्ञान का कहना है कि उनके ध्यान में यह समस्या नहीं आई है। यदि ऐसी कोई समस्या है तो बंदरों को पकड़ने के लिए पिंजरे लगाए जाएंगे।
नईदिल्ली।विनायकदामोदरसावरकरएकऐसानामहैजिसपरदशकोंसेभारतीयजनतापार्टीऔरकांग्रेसकेबीचबहसहोतीचलीआरहीहै।हालहीमेंजनतासेकिएभाजपाक